प्रेमी ने संदेह के आधार पर प्रेमिका की हत्या की , छुरा के साथ गिरफ्तार

seohar news
Advertisement

मोहम्मद हसनैन की रिपोर्ट-

शिवहर- ग्राम मठ मसौली के लक्ष्मी सहनी की पुत्री विवाहिता खुशबू कुमारी की हत्यारा उसका देवर सुकेश कुमार निकला जिसे पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त छुड़ा के साथ गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने प्रेस वार्ता कर बताया है कि 6 नवंबर 2018 को ग्राम मठ मसौली के लक्ष्मी सहनी की पिता स्वर्गीय राम अवतार सहनी ने तरियानी थाने में अपनी पुत्री खुशबू देवी की हत्या होने की प्राथमिकी दर्ज करवाया था इस बाबत हत्या के आरोप में दो नामजद अनिल सहनी एवं दिलीप सहनी दोनों पिता नागेश्वर सहनी सचिव वृदावन मुशहरी थाना तरियानी के विरूद्ध लगाया गया था।

पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने प्रेसवार्ता में बताया है कि एसडीपीओ राकेश कुमार के नेतृत्व में थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर गोरख राम के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी कि इस मामले का तहकीकात सही सही से करें और हत्या करने वाले को गिरफ्तार किया जाए।

इस बाबत तकनीकी एवं वैज्ञानिक अनुसंधान किया गया और अंततः कांड का सफल उद्बभेधन गिरफ्तारी एवं प्रयुक्त छूरा मोबाइल फोन बरामद किया गया।

घटना का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने बताया है कि शादी लक्ष्मी सहनी की पुत्री खुशबू देवी की शादी 2 वर्ष पूर्व राजेश सहनी पिता भोला चौधरी साकिन हथियाही थाना पिपरा कोठी जिला मोतिहारी के साथ हुआ था। राजेश सहनी बंगलोर मे रहकर जीविकोपार्जन करता था ,मृतिका अपने ससुराल एवं नैहर में रहती थी मृतिका खुशबू देवी को अपने देवर सुकेश कुमार से प्रेम प्रसंग चलने लगा।

सुकेश कुमार मोतिहारी मे चालक का कार्य करता है खुशबू कुमारी नैहर में कुछ दिनों से रह रही थी सुकेश कुमार को इस बात का संदेह हो गया था कि खुशबू देवी का संबंध इसके अलावा अन्य से भी चल रहा है इस बात को लेकर मनमुटाव चल रहा था।

घटना के दिन 6 नवंबर 2018 के अहले सुबह सुकेश कुमार खुशबू देवी की हत्या करने की नियत से खुशबू देवी से मिलने के बहाने ग्राम मठ मसौली आया, खुशबू देवी अपने परिजनों को बगैर बताए चुपके से सुकेश कुमार से मिलने के लिए घर से चली गई ,खुशबू देवी सुकेश कुमार से मिलने पहुंची तो सुकेश कुमार ने छुरा से मार कर उसकी हत्या कर दी।

अनुसंधान में उक्त तथ्यों का खुलासा होने पर सुकेश कुमार को गिरफ्तार किया गया गिरफ्तारी उपरांत पूछताछ में उसने अपना दोष स्वीकार करते हुए घटना में प्रयुक्त छुरा हेनरी बाजार मोतिहारी में एक नाली में फेंकने की बात बताया जिसके आधार पर उक्त छुरा नाली से बरामद कर लिया गया।

कांड का उद्बभेधन गिरफ्तारी एवं प्रयुक्त छुरा मोबाइल बरामदगी में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राकेश कुमार के नेतृत्व में की गई तथा तरियानी थानाध्यक्ष गोरखधाम,हिरमा थाना अध्यक्ष राकेश कुमार, धन गस्ती दल के प्रभारी दयाशंकर साह एवं पुलिस टीम को प्रशंसनीय कार्य किया गया है।