मधुसागर डेयरी की तरफ से शिवहरवासियों को नव वर्ष की शुभकामनाएं

Advertisement

मो. हसनैन की रिपोर्ट

फूल खिलेंगे गुलशन में खूबसूरती नज़र आएगी,
बीते साल की खट्टी मीठी यादें संग रह जाएगी,
आओ मिलकर जश्न मनाएं नए साल का हँसी ख़ुशी से,
नए साल की पहली सुबह ख़ुशियाँ अनगिनत लाएगी!!

कुछ इन्हीं शब्दों के साथ शिवहर के मधुसागर डेयरी के डायरेक्टर संजय सिंह ने समस्त जिलेवासियों और देशभर के लोगों के नव वर्ष की शुभकामनाएं प्रेषित किया है। संजय सिंह कहते हैं कि हम नए साल में संकल्पित हों की हमें मिल जुलकर अपने देश को स्वस्थ भारत बनाना है। स्वस्थ भारत के लिए जरूरी है कि हम स्वस्थ आहार लें और दूध से अच्छा कोई आहार नहीं हो सकता है। मधुसागर डेयरी एक प्रयास का नाम है कि हम अपने जिलेवासियों को शुद्ध दूध और दूध से बने प्रोडक्ट को आसानी से उपलब्ध करवा सकें। इस अवसर पर मुझे कवि आनंद विश्वास की ये कविता याद आ रही है जो मैं आप सबों से साझा करना चाहूंगा।

सुनो दूध की लीला न्यारी,
सभी तत्व इसमें हैं भारी।

दूध मलाई जो खाएगा,
बलशाली वह हो जाएगा।

सबसे अच्छा दूध गाय का,
पीकर देखो, चखो जायका।

काजू किशमिश मेवा डालो,
और दूध को जरा उबालो।

थोड़ी चीनी और मिला लो,
झटपट गटको मूँछ बना लो।

मेवे वाली शाही खीर,
सब्जी खाओ मटर पनीर।

मथुरा वाले पेड़े खाओ,
रबड़ी खाओ, खाते जाओ।

और जलेबी देशी घी की,
बिना दूध के लगती फीकी।

गर्म दूध में डालो खाओ,
और पेट पर हाथ घुमाओ।

गाजर हलवा, लौकी हलवा,
रसगुल्ले का देखो जलवा।

तड़के वाली छाछ निराली,
लस्सी पिओ भटिण्डे वाली।

एप्पल, मेंगो शेक पिओ जी,
आइस्क्रीम का कप ले लोजी।

दूध पूर्ण भोजन है भाई,
देखो मुनिया टॉफी लाई। कविता साभार: आनंद विश्वास

नए साल में आप सभी लोग अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें। यही मंगलकामना करता हूं।